पुलिस कप्तान ने होली पर हज़रत मोहम्मद साहब के हुस्न ए अख़लाक़ की दावत देने के लिये बाँटे एक लाख पम्पलेट

ओसामा नदवी
मुज़फ़्फ़रनगर: उत्तर प्रदेश के दबंग टॉप टेन आईपीएस ऑफिसरों में से एक जो लगभग अब तक 100 से अधिक अपराधियों को ठिकाने लगा चुके हैं जिनका नाम सुनते ही बदमाश काँपने लगते हैं का नाम अनन्त देव तिवारी है जो 1986 PPS बेच के अधिकारी हैं पुलिस विभाग में शानदार सेवाएँ प्रदान करने पर इनको 2006 में आईपीएस का तमग़ा मिला था।

इस समय यूपी के सबसे मशहूर जिले मुज़फ़्फ़रनगर में पुलिस की कप्तानी कर रहे हैं जिस कारण अपराधियों का सफाया होरहा है और आम आदमी सुकून के साथ रह रहा है,व्यापारी अमन के साथ अपना व्यापार कर रहे हैं,और अपराधी जिला छोड़ कर भाग रहे हैं या फिर गर्म पीतल का शिकार बन रहे हैं।

अपराधियों के लिए यमराज रूपी तिवारी जी आम जनता के लिये सौम्य व्यक्तित्व, शालीन व्यवहार से पेश आते हैं इसी कारण उन्होंने पुलिस और आम आदमी में तालमेल बनाने और अपराध मुक्त जनपद बनाने के लिये S7 और S10 की टीम प्रत्यक थाने में बनवाई हैं ।

इस बार अनन्त देव तिवारी जी किसी बड़े बदमाश को ठिकाने लगाने की वजह से लोगों की ज़बान पर नही हैं बलिक अब वे एक भलाई और अच्छाई का संदेश होली के त्यौहार पर जारी करने की वजह से चर्चाओं में हैं।कप्तान साहब ने अपने इस सन्देश में बड़े अच्छे अंदाज़ से हज़रत मोहम्मद सल्ललाहु अलैही व्सल्लम के दूसरों को अपने हुस्न ऐ अख़लाक़ से प्रेरित करने वाली एक इतिहासिक घटना का ज़िक्र किया है।और एक लाख के लगभग ये पम्पलेट पूरे जनपद में हर थाने में बंटवाये जारहे हैं।

जिसमें उन्होंने शीर्षक में लिखा है “निवेदन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद मुज़फ़्फ़रनगर” उसके बाद कप्तान साहब ने लिखा है कि” दोस्तों आप रसूल पाक की उम्मत के फर्द हैं, जिस रास्ते से रसूल पाक गुज़रते थे उस रास्ते पर एक यहूदी औरत का घर पड़ता था।ये यहूदी औरत अपने घर का तमाम गर्द गुबार(कूड़ा करकट) लेकर छत पर इंतेज़ार करती थी,जब रसूल पाक घर के सामने से गुज़रते तो उनके ऊपर सारी गंदगी गिरा देती थी।
अब रसूल के किरदार को देखिए कि बदन का गर्द गुबार झाड़ कर चले जाते ।एक रोज़ उन पर गन्दगी नही फेंकी गई जब रसूल पाक वापस लोटे तो मौहल्ले वालों से पूछा कि वो यहुदन औरत कहाँ चली गई है तो मोहल्ले वालों ने बताया कि वो बीमार है,रसूल पाक इज़ाज़त लेकर घर में दाखिल हुए और उससे पूछा तुम्हारे घर मे कोई और नही है?आपके लिये दवा ला दूँ।यहुदन ने देखा कि ये तो वो ही रसूल हैं जिसके ऊपर मैं रोज़ाना गन्दगी फैंका करती थी,इस मधुर स्वभाव को देखकर वो औरत रो पड़ी पैरों में सिर रख दिया और ईमान ले आई।
भाइयों आप सब उस उम्मत के फर्द हैं जिसके किरदार हुस्न ऐ अख़लाक़ को देखकर पत्थर दिल पिघल गया,इस लिये आप कभी सुन्नत रसूल पाक को याद करके आग को आग से बुझाने की कोशशि ना करें,आग बुझाने के लिये पानी की ज़रूरत होती है।अक़्ल ओ होश का दामन कभी मत छोड़ो वरना शैतान का फितना काम कर जायेगा।अगर किसी बच्चे या बड़े से कोइ ना समझी होजाये तो सब्र और धीरज से काम लेकर होली के शुभ अवसर पर जिले में अमन ओ अमान क़ायम रखेंगे। आपका बहुत बहुत धन्यवाद होगा।

आपका शुभचिंतक
अनन्त देव तिवारी
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद मुज़फ़्फ़रनगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *