दिल्ली पुलिस ने डॉक्टर ज़फरुल इस्लाम को भेजा नोटिस,कहा मोबाइल और लैपटॉप करें जमा,जानिए क्यों ?

नई दिल्ली: दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष डॉक्टर जफरुल इस्लाम खान द्वारा सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट के कारण उनकी मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आरही हैं अब दिल्ली पुलिस (Delhi Police)) ने नोटिस भेजा है।

पुलिस ने जफरूल इस्लाम से उनका वो लैप-टॉप और मोबाइल जमा करने को कहा है जिससे उन्होंने सोशल मीडिया पर वो आपत्ति जनक पोस्ट डाला था। मोबाइल और लैपटॉप जमा करने के लिए पुलिस ने उन्हें 12 मई तक की मोहलत दी है।

बता दें कि जफरुल इस्लाम खान ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाली, जिसमें उन्होंने हिन्दूत्व कट्टरपंथियों शब्द का इस्तेमाल करते किया था साथ ही यह भी लिखा कि अगर भारत के मुसलमान अरब के मुसलमान दोस्तों से यहां पर उनके खिलाफ चलाई जा रही नफरत की शिकायत करेंगे तो कट्टरपंथियों को मुश्किल होगी, जलजला आ जाएगा। इस पोस्ट के बाद सोशल मीडिया खूब बवाल मचा।

जफरुल के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज
वहीं दिल्ली पुलिस की स्पेशल ब्रांच ने जफरुल के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया। पुलिस ने वसंत कुंज निवासी एक व्यक्ति की ओर से शिकायत मिलने के बाद खान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124ए (राजद्रोह) और 153ए (धर्म, नस्ल और जन्म स्थान के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता भड़काने) के तहत मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने बताया कि दर्ज कराई गई प्रथमिकी में शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि खान का पोस्ट ‘भड़काऊ’ , ‘इरादतन’ और राजद्रोह से युक्त था तथा यह समाज के सौहार्द्र को बिगाड़ने और विभाजन पैदा करने पर केंद्रित था।

जफरूल को पद से हटाने के लिए याचिका दायर
6 मई की शाम को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम जफरुल इस्लाम खान के घर पहुंची, लेकिन उसे खाली हाथ लौटना पड़ा। दरअसल, दिल्ली पुलिस बिना नोटिस के ही पहुंची थी। उधर, जफरुल इस्लाम को उनके पद से हटाने के लिए हाई कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है। मामले की सुनवाई अब 11 मई को होगी। याचिका वकील अलख आलोक श्रीवास्तव की ओर से दायर की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *