केरल के मुख्यमंत्री की बेटी ने इस मुस्लिम नेता के संग रचाई शादी,देखिए तस्वीरें

नई दिल्ली: केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन की बेटी वीणा की सोमवार को एक मुस्लिम नेता के संग शादी कर ली है। वीणा थायिकंदियाल की शादी डीवाईएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद रियाज के साथ हुई।

राज्य के मुख्यमंत्री आवास क्लिफ हाउस सोमवार को छोटे से समारोह का आयोजन किया गया ता। शादी में वीणा और रियाज के पक्ष से केवल परिवार के बेहद करीबी लोग ही शामिल हुए। वीणा पिनाराई विजयन और कमला की बड़ी बेटी हैं।

शादी समारोह के दौरान वीणा ने पीले रंग की साड़ी पहनी। उन्होंने अपने बालों में गजरा भी लगा रखा था। शादी के दौरान वह बेहद खुश नजर आ रही थीं। वहीं रियाज ने सफेद रंग की शर्ट और परंपरागत सफेद रंग की धोती बांध रखी थी। हालांकि वीणा ने बहुत जेवर नहीं पहना न ही मेकअप किया। वह बहुत ही सादगी से तैयार हुई थीं।

रियाज और वीणा कई वर्षों से एक दूसरे को जानते हैं। दोनों का तलाक लगभग पांच साल पहले हुआ था। दोनों ने अपनी दोस्ती को अब रिश्ते में बदलने को ठानी है। बताया जा रहा है कि दोनों ने खुद एक दूसरे को चुना है और इस शादी का फैसला लिया था। दोनों की शादी की तारीख पांच दिन पहले ही सार्वजनिक की गई थी।

वीना की पहली शादी से एक बच्चा है, वहीं रियाज के पहली पत्नी से दो बच्चे हैं। वीना सॉफ्टवेयर इंजिनियर हैं। वीणा बेंगलुरु में अपनी खुद की एक सॉफ्टवेयर कंपनी चलाती हैं। जबकि रियाज की उम्र 39 साल है और वह पेशे से एक वकील हैं।

कॉलेज के दिनों से ही राजनीति में आए रियाज 2009 में कोझीकोड लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे। हालांकि वह कांग्रेस के एमके राघवन से चुनाव हार गए थे। वह DYFI के पहले राष्ट्रीय संयुक्त सचिव थे। 2017 में उन्हें डीवाईएफआई का अध्यक्ष बनाया गया था।

37 साल की वीणा बेंगलुरु में एक्सालॉजिक नाम की एक सॉफ्टवेयर कंपनी चलाती हैं। इससे पहले वह ओरेकल में आठ साल तक काम कर चुकी हैं। इसके अलावा वह आरपी टेकसॉफ्ट में दो साल सीईओ के पद पर भी काम कर चुकी हैं। उन्होंने 2015 में स्टार्टअप के तहत अपनी कंपनी लॉन्च की थी।

डीवाईएफआई के एक नेता ने बताया कि रियाज और वीणा कई वर्षों से एक दूसरे को जानते हैं। दोनों का तलाक लगभग पांच साल पहले हुआ था। दोनों ने अपनी दोस्ती को अब रिश्ते में बदलने को ठानी है। बताया जा रहा है कि दोनों ने खुद एक दूसरे को चुना है और इस शादी का फैसला लिया है।

मोहम्मद रियाज कोझिकोड के रहने वाले हैं। उनके पिता पीएम अब्दुल खादर आईपीएस अधिकारी थे। चाचा पीके मोइदेंकुट्टी 1941 में केरल कांग्रेस के अध्यक्ष थे। उन्होंने सेंट जोजफ स्कूल और फारूख कॉलेज में पढ़ाई के दौरान एसएफआई जॉइन किया था। तब वह इसमें एक कार्यकर्ता थे। तमाम पदों पर रहने के बाद वह 2017 में डीवाईएफआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए थे। वह अभी सीपीएम की राज्य समिति के सदस्य हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *