ओवैसी ने चीन के मुद्दे पर केंद्रीय सरकार से पूछे सवाल,पूछा क्या भारतीय इलाके पर कब्ज़ा किया है ?

नई दिल्ली: ऑल इण्डिया मजलिस ऐ इत्तिहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और साँसद बैरिस्टर असदउद्दीन ओवैसी ने एलएसी पर चीन से होरही तनातनी की खबरों पर केंद्र सरकार की आलोचना करी है।

ओवैसी ने केंद्र से अपील करते हुए कहा है कि वह वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन की स्थिति को स्पष्ट करे और ये बताए कि चीन से बात किस मुद्दे पर हो रही है। क्या चीन ने किसी भारतीय इलाके पर कब्जा कर लिया है?

सोमवार को इस बारे में बात करते हुए ओवैसी ने कहा कि भारतीय सेना और चीन की पीपल्स लिब्रेशन आर्मी आपस में बात कर रहे हैं। केंद्र को देश के ये बताना चाहिए कि क्या चीन ने हमारे किसी इलाके पर कब्जा किया है या नहीं। वो क्यों चुप हैं। क्या वो हमें ये बता सकते हैं कि लद्दाख के किसी भारतीय इलाके में चीन का कब्जा है या नहीं।

चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने चीनी सेना (PLA) के टैकों के साथ युद्धाभ्‍यास का वीडियो जारी किया है। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने कहा कि चीनी पीएलए के सैनिक अपने आमर्ड वीकल की टेस्टिंग कर रहे हैं। पीएलए के इस वीडियो में चीनी सैनिक अपने टैंकों के साथ किसी पहाड़ी इलाके में अभ्‍यास कर रहे हैं।इससे पहले सोमवार को लद्दाख सीमा पर जारी तनाव को लेकर शनिवार को हुई कोर कमांडर लेवल की बातचीत के बाद अपना दोहरा चरित्र दिखा दिया था।

भारत पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश
चीनी पीपल्स लिब्रेशन आर्मी ने मध्य चीन के हुबेई प्रांत से चीन और भारत के बीच सीमा पर तनाव के बीच ऊंचाई वाले उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में हजारों पैराट्रूपर्स और बख्तरबंद वाहनों के साथ बड़े पैमाने पर युद्धाभ्यास का आयोजन किया। इसका वीडियो जारी कर‍के अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने भारत पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *