Video: मेरठ में हाजी याकूब क़ुरैशी की हार जीत पर गर्माया माहौल,जान बूझकर हराने का लगाया आरोप,देखिए

नई दिल्ली: वेस्ट यूपी के क्रांतिकारी शहर मेरठ के संसदीय क्षेत्र मेरठ हापुड़ लोकसभा को भाजपा का गढ़ माना जाता है, सात विधान सभा सीटों में से छह विधायक, तीन सांसद आैर जिला पंचायत अध्यक्ष भाजपा से हैं। इसके बावजूद भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र अग्रवाल को अपने गढ़ में वोटों के लिए जूझना पड़ रहा है, जबकि राजेंद्र अग्रवाल मेरठ- हापुड़ लोक सभा सीट पर 2009 आैर 2014 में लगातार दो बार सांसद बन चुके हैं।

इस बार लोकसभा चुनाव की मतगणना मेरठ केे कताई मिल मतगणना स्थल पर चल रही है,अचानक भाजपा प्रत्याशी राजेन्द्र अग्रवाल के जीतने की सूचना पर गठबंधन प्रत्याशी हाजी याकूब ने गुस्‍से में विरोध जताया। एसएसपी से कहा कि मैैं 1200 वाेेट से जीत रहा था, लेकिन जानबूझकर हराया गया।

जिला निर्वाचन अधिकारी और एसएसपी से मिलने के बाद याकूब केे बेेेटे भूरा ने दावा किया कि अभी मतगणना चल रही है। याकूब 4500 से जीतेंगे। मतगणना पूरी होने तक अधिकारियों से कतई मिल न छोड़ने की अपील भी की।

कताई मिल मतगणना स्थल पर गठबंधन प्रत्‍या‍शी हाजी याकूब गुस्‍से में पहुंचे। कताई मिल पर आरएएफ भी तैनात कर दी गई है। एसएसपी न‍ित‍िन त‍िवारी ने बताया क‍ि अभी 2 घंटे रिजल्ट घोषित होने में लग जाएंगे। हाजी याकूूब के सामने हर राउंड का मिलान किया जा रहा है।

पिछले नगर निगम चुनाव में बसपा ने दलित-मुस्लिम के गठजोड़ का फायदा उठाते हुए मेयर पद पर कब्जा जमाया था। मायावती ने इसी गठजोड़ का लाभ लेने के लिए मेरठ-हापुड़ लोक सभा सीट पर याकूब कुरैशी को उतारा। भाजपा के गढ़ में भाजपा प्रत्याशी के वोटों का अंतर लगातार बढ़ने से माना जा रहा है कि इस दलित-मुस्लिम गठजोड़ का फायदा याकूब को मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *