सेमीफाइनल में हार के बाद टीम इण्डिया में इस्तीफा का दौर शुरू,दो पुराने साथियों ने छोड़ा साथ,देखिए

नई दिल्ली:2019 के आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में भारतीय टीम न्यूज़ीलैंड बीके हाथों 18 से हारकर विश्वकप की रेस बाहर हो गई है,इंडिया के बाहर होने से करोड़ो फैन्स का दिल टूट गया है,भारतीय बल्लेबाजों ने इस निर्णायक मैच में निराश किया है।

सेमीफाइनल में हार के बाद इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है,टीम इंडिया के 2 सपोर्ट स्टाफ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. ये हैं टीम इंडिया के फीजियो पैट्रिक फरहार्ट और टीम के फिटनेस कोच शंकर बासु. अब टीम इंडिया को कोचिंग स्टाफ के इन दो अहम सदस्यों की सेवाएं नहीं मिलेंगी।

पैट्रिक फरहार्ट का कॉन्ट्रैक्ट वर्ल्ड कप तक का ही था. ‘इंडियन एक्सप्रेस’ के मुताबिक, बीसीसीआई ने इन दोनों को नया कॉन्ट्रैक्ट दिया था. लेकिन इन्होंने इसे आगे बढ़ाने की इच्छा नहीं जताई. फीजियो पैट्रिक फरहार्ट ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘भारतीय टीम के साथ मेरा आज आखिरी दिन था. हम उस तरह से प्रदर्शन नहीं कर पाए जैसा मैं चाहता था. मैं बीसीसीआई का शुक्रिया करना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे भारतीय टीम के साथ 4 साल तक काम करने का मौका दिया. भारतीय टीम और सपोर्ट स्टॉफ को मैं आगे के सफर के लिए अपनी शुभकामनाएं देना चाहता हूं.’

शंकर बासु ने वर्ल्ड कप के बाद टीम से अलग होने पर कहा है कि वे कुछ समय के लिए ब्रेक चाहते हैं. दोनों ने इसे लेकर टीम मैनेजमेंट को जानकारी दे दी है।

दिलचस्प बात ये है कि टीम इंडिया फिटनेस कोच शंकर बासु ने ही भारतीय क्रिकेटरों के लिए यो-यो टेस्ट पास करना अनिवार्य किया था. हालांकि, बासु अधिकतर समय पर्दे के पीछे काम करने के लिए जाने जाते हैं, लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली अपनी फिटनेस का श्रेय उन्हें ही देते हैं. दोनों का तालमेल इसलिए भी अच्छा है, क्योंकि बासु आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर का भी हिस्सा रहे हैं. जबकि विराट इस टीम के कप्तान हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *