सर्वे में हुआ बड़ा खुलासा,भारत में मुसलमान सबसे ज़्यादा राष्ट्रवादी,देखिए

नई दिल्ली: भारत में पिछले कुछ सालो से राष्ट्रवाद की ऐसी परिभाषा की जारही है जिसके चलते नागरिकों को निशाना भी बनाया जाता है,आमतौर पर सोशल मीडिया पर धर्म और पार्टी को लेकर समर्थक एक दूसरे को निशाना बनाते रहते है।

सीएसडीएस नामक संस्था द्वारा एक सर्वे में एक रिपोर्ट पेश की गई है जिसके आंकड़े चोंकाने वाले हैं,आंकड़ों के अनुसार सोशल मीडिया इस्तेमाल करने वाले 19 प्रतिशत लोग यह मानते है कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है जबकि इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करने वालो में से 17 प्रतिशत मानते है की भारत एक हिंदू राष्ट्र है। यह सर्वे गत 2 महीने में कराया गया है और कुल 27 राज्यो के आंकड़ों को संकलित कर इसकी पुष्टि की गई है।

वही सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालो में से 75 प्रतिशत लोगों का मानना है कि भारत एक सेक्युलर देश है और सभी धर्मो को मानने वालों को बराबर का दर्जा मिलना चाहिए वहीं इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करने वालो में से 73 प्रतिशत लोगों की भी यही राय है।

इसी सर्वे के साथ एक और आंकड़े सामने आए जिसमें से देश के 30 फीसदी लोग यह मानते है कि मुस्लिम सबसे ज्यादा राष्ट्र्वादी होते है और देश के लिए मर मिटने के लिए तैयार है वहीं 15 फीसदी लोगों का मानना है कि मुस्लिम राष्ट्र्वादी नहीं होते। अब कुल आंकड़ों के अनुसार देखा जाए तो देश आज में आज भी सेक्युलर प्रवती के लोग ज्यादा है और उनका मानना सब बराबर है और यह देश सबका है। और जो ऐसा नहीं सोचते है वह शायद देश के सविधान में भी विश्वास नहीं रखते है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *