धोनी की वजह से फ्री में भारत-पाक का मैच देखते हैं बशीर चाचा, 8 साल से है माही के दीवाने,देखिए

नई दिल्ली: पड़ोसी देश पाकिस्तान के शहर कराची में जन्में मोहम्मद बशीर और पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बीच ऐसा रिश्ता है जो एक दूसरे के सम्मान और प्रेम का है,जब भी भारत पाकिस्‍तान का मैच होता है तो धोनी ही उनकी टिकट का बंदोबस्‍त करते हैं. इस बार भी ऐसा ही हुआ है. बशीर मैच टिकट नहीं होने के बावजूद रविवार को होने वाले भारत-पाक मुकाबले के लिए 6000 किलोमीटर की दूरी तय कर शिकागो से मैनचेस्टर पहुंच गए हैं।

महेंद्र सिंह धोनी और कराची में जन्में मोहम्मद बशीर के बीच रिश्ता 2011 वर्ल्‍ड कप में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए सेमीफाइनल से शुरू हुआ था. इसके बाद से दोनों एक दूसरे का काफी सम्‍मान करते हैं. वह जानते हैं कि धोनी सुनिश्चित करेगा कि वह ओल्ड ट्रैफर्ड पर मैच देख सकें।

इस 63 वर्षीय प्रशंसक का शिकागो में एक रेस्तरां हैं और उनके पास अमेरिका का पासपोर्ट है. उन्होंने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘मैं यहां कल ही आ गया था और मैंने देखा कि लोगों ने एक टिकट के लिए 800 से 900 पाउंड तक खर्च किए हैं. शिकागो से लौटने के टिकट का खर्चा भी इतना ही है. धोनी का शुक्रिया क्योंकि मुझे मैच टिकट के लिए इतना जूझना नहीं पड़ता है।

धोनी से साथी खिलाड़ी कभी कभार संपर्क नहीं कर पाते लेकिन उन्होंने कभी भी बशीर को निराश नहीं किया है. बशीर ने कहा, ‘मैं उन्हें फोन नहीं करता क्योंकि वह इतने व्यस्त रहते हैं. मैं संदेशों के जरिए ही उनसे संपर्क में रहता हूं. मेरे यहां आने से पहले ही धोनी ने मुझे टिकट का भरोसा दे दिया था. वह बेहद अच्छे व्यक्ति हैं. उन्होंने मोहाली में 2011 मैच के बाद मेरे लिए जो किया है, मुझे नहीं लगता कि उसके बारे में कोई सोच भी सकता है. मैं उनके लिए इस बार एक सरप्राइज लेकर आया हूं. मैं जल्‍द ही इसे उन्‍हें दूंगा.’

बता दें कि 2011 के भारत पाकिस्‍तान के बीच हुए सेमीफाइनल मैच के लिए धोनी ने ही बशीर के लिए टिकट की व्‍यवस्‍था की थी. उन्‍होंने बताया कि वह मैच उन्‍होंने फ्री में देखा था जबकि बाकी लोगों ने मोटी रकम खर्च की थी. यह सब धोनी की वजह से ही हो पाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *