कर्फ्यू तोड़ मुस्लिम ऑटो वाले ने प्रसव पीड़ा झेल रही हिंदू महिला को पहुंचाया अस्पताल,पेश करी इंसानियत की मिसाल

नई दिल्ली: एक गरीब ऑटो चालक की ने मानवता की ऐसी मिसाल पेश करी है जिससे नफरत का सिर शर्म से झुक गया है,और भारत की सद्भावना का ऐसा काम किया है जिससे मोहब्बत की जीत हुई है,

प्राप्त समाचार के अनुसार असम के हैलाकांडी में सांप्रदायिक हिंसा के चलते कर्फ्यू लगा हुआ था मानवता का उदाहरण पेश करते हुए एक ऑटो चालक ने कर्फ्यू को इसलिए तोड़ दिया क्योंकि उसे एक प्रसव पीड़ा झेल रही महिला को अस्पताल पहुंचाना था।

इस कर्फ्यू के बीच ही हिंदू महिला रुबन को प्रसव पीड़ा हो गई. इस दौरान उसे अस्पताल तक ले जाने के लिए भी एंबुलेंस की जरूरत थी लेकिन कर्फ्यू के चलते एंबुलेंस भी पहुंचने में असमर्थ थी. ऐसे में रुबन पास ही रहने वाले मकबूल के घर पहुंची और मदद की गुहार की. मकबूल ने भी बिना समय गंवाए अपना ऑटो निकाला और कर्फ्यू को तोड़ता हुआ रुबन को अस्पताल पहुंचा दिया. रुबन ने अस्पताल में एक स्वस्‍थ्य बच्चे को जन्म दिया जिसका नाम शांति रखा गया है।

मकबूल के इस काम के लिए प्रशासन ने भी उसका आभार जताया और कहा कि हमें कौमी एकता के ऐसे और उदाहरण समाज में चाहिएं. गौरतलब है कि शुक्रवार को हुई सांप्रदा‌यिक हिंसा के बाद पुलिस गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 15 अन्य घायल थे. वहीं उपद्रवियों ने 15 वाहन और 12 दुकानें भी क्षतिग्रस्त कर दी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *